आज हम उस समय और युग में है जहां सूचना सिर्फ एक बटन दबाने पर मिल जाती है, इनके कारण हम अपने चारों ओर की जानकारी से अवगत हो जाते हैं, सोशल मीडिया वह जगह है जहां हमें किसी भी चीज के बारे में जानने, पढ़ने, समझने और बोलने का मौका मिलता है, सोशल मीडिया…

पिता वह है जो समय-समय पर हमें अच्छी और बुरी बातों का आभास करा कर आगाह करते हैं | पिताजी हमेशा हमें हार ना मानने और हमेशा आगे बढ़ने की सीख देते हुए हमारा हौसला बढ़ाते हैं | पिता से अच्छा मार्गदर्शक कोई हो ही नहीं सकता ।  मेरे पिता मेरे लिए आदर्श है, क्योंकि…

भारत के सदियों पुरातन धर्म से ही अत्यधिक खर्चीली एवं जटील रिती मानी जाती है दहेज प्रथा ।इसमें भारी सजावट, शानदार बहुमूल्य, उपहार तथा दूल्हे के परिवार को खुश करने के लिए लाखों रुपए दिए जाते हैं,  इसे ही दहेज प्रथा कहा जाता है, इस प्रकार की प्रथा वर्षों से चली आ रही है,  पहले…