नया साल नई उम्मीदें, नए सपने, नए लक्ष्य और नए रास्ते पर चलने की उम्मीद है देता है| इसलिए सभी लोग खुशी से नए साल को त्यौहार के रूप में मनाते हैं, लोग यह मानते हैं कि साल का पहला दिन अगर उत्साह और खुशी के साथ मनाया जाए तो पूरा साल इसी तरह उत्साह…

लोकप्रिय स्वतंत्रता सेनानी श एवं भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के महानायक चंद्रशेखर आजाद का जन्म 23 जुलाई 1906 में मध्यप्रदेश के झाबुआ जिले के भाबरा नामक स्थान पर हुआ । उनके पिता का नाम पंडित सीताराम तिवारी और माता का नाम जगदानी देवी था। उनके पिता स्वाभिमानी सांसी इमानदार और वचन के पक्के थे। यही गुड…

जन्म दिवस मनाना हमारे भारत की एक प्राचीन परम्परा है। हम अपने महापुरुषों के जन्म दिनों को मनाकर उन्हें अपनी श्रद्धा अर्पित करते हैं और अपने व्यवहारिक जीवन में उनके आदर्शों पर चलने की कोशिश करते हैं। पंडित जवाहर लाल नेहरु जी भी उन महापुरुषों में से एक हैं जिनका जीवन भावी पीढ़ी के लिए…

भगवान श्रीकृष्ण के जन्मोत्सव का दिन बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है। जो रक्षाबंधन के बाद भाद्रपद माह के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को मनाया जाता है।यह पर्व पूरी दुनिया में पूर्ण आस्था एवं श्रद्धा के साथ मनाया जाता है। जन्माष्टमी को भारत में ही नहीं, बल्कि विदेशों में बसे भारतीय भी पूरी आस्था…

प्रत्येक स्वतंत्र राष्ट्र का अपना एक ध्वज होता है, जो उस देश के स्वतंत्र देश होने का संकेत है। भारत का राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा है, जो तीन रंगों – केसरिया, सफेद और हरे रंग से बना है और इसके केंद्र में नीले रंग से बना अशोक चक्र है।भारतीय राष्ट्रीय ध्वज में तीन रंग की क्षैतिज…

बाढ़ ज्यादा बारिश और उचित जल निकासी व्यवस्था की कमी के कारण होती है। बाढ़ की गंभीरता हर क्षेत्र के हिसाब से अलग-अलग होता है और उसी के कारण होने वाला विनाश भी अलग-अलग होता है। बाढ़ भारी बारिश, नदियों और महासागरों जैसे जल निकायों से पानी के अतिप्रवाह, ग्लेशियर पिघलने, तूफान और तटीय किनारों…

एक लड़का हो या लड़की इन दिनों करियर को हर व्यक्ति के जीवन में बहुत महत्व दिया जाता है। शुरुआत से ही हमें हमारे अध्ययनों पर ध्यान केंद्रित करने और परीक्षाओं में अच्छी तरह से अंक हासिल करने के लिए कहा जाता है। ऐसा करने का मकसद एक मजबूत आधार बनाने और अच्छे ग्रेड लाना…

सावन को साल का सबसे पवित्र महीना माना जाता है।  ऐसी मान्यता है कि इस माह का प्रत्येक दिन किसी भी देवी-देवता की आराधना करने के लिए सबसे उपयुक्त होता है, विशेष तौर पर इस माह में भगवान शिव, माता पार्वती और श्री कृष्ण की आराधना की जाती है। चैत्र के पांचवे महीने को सावन…

आज हम उस समय और युग में है जहां सूचना सिर्फ एक बटन दबाने पर मिल जाती है, इनके कारण हम अपने चारों ओर की जानकारी से अवगत हो जाते हैं, सोशल मीडिया वह जगह है जहां हमें किसी भी चीज के बारे में जानने, पढ़ने, समझने और बोलने का मौका मिलता है, सोशल मीडिया…

पिता वह है जो समय-समय पर हमें अच्छी और बुरी बातों का आभास करा कर आगाह करते हैं | पिताजी हमेशा हमें हार ना मानने और हमेशा आगे बढ़ने की सीख देते हुए हमारा हौसला बढ़ाते हैं | पिता से अच्छा मार्गदर्शक कोई हो ही नहीं सकता ।  मेरे पिता मेरे लिए आदर्श है, क्योंकि…